Course Description

नमस्कार दोस्तों,

मैं राजकुमार थैनुआ आपका स्वागत करता हूँ अपने नए course में जिसका नाम है communication system.

दोस्तों मैने generally देखा है कि student अपना b.tech तो पूरा कर लेते हैं लेकिन उन्हें communication की basic understanding भी नहीं होती। अगर उनसे communication का एक भी concept पूछ लिया जाय तो वहीँ उनकी बोलती बंद हो जाती है।

ये तो ठीक बात नहीं है ना,आपने यदि communication subject पढ़ा है तो
आपको आना चाहिए यदि नहीं आ रहा है तो इसका मतलब कहीं न कहीं problem है।

इस problem को जानने के लिए मैंने अलग-अलग student से बात की,कुछ का कहना tha कि sir कोई ढंग की किताब ही नहीं मिलती, मिलती भी है तो उसमें इतना hi-fi दिया होता है कि आधा तो सिर के ऊपर से ही निकल जाता है।

कुछ student का मानना है कि समझ नहीं आता कि क्या-क्या पढ़ा जाय जिससे हम कह सकें कि हमारा communication subject strong है ये सारी समस्याओं को ध्यान में रखते हुए मैंने एक survey किया और देखा कि india में ज्यादातर universities, communication subject को किस-किस नाम से पढ़ा रही हैं।

मैंने देखा कि कोई university इसे principles of communication (P O C) के नाम से ,या फिर analog communication system के नाम से या फिर analog and digital communication के नाम से and so on.

तभी मेरे दिमाग में एक idea आया क्यों ना एक ऐसा course बनाया जाए जो सभी universities की जरुरत को पूरा करे और आपको national level का exposure मिले।

इसलिए मैंने अपने course का एक generalize नाम रखा है। that is communication system.

इसमें मैंने syllabus को भी generalize किया है जिससे आपको national level पर कोई दिक्कत न हो और आप कोई भी national level का exam दे पाये जैसे कि GATE, PSU’s (public sector examination).

इस course में मैंने cover किया है।

Communication basics
AM modulators and demodulators
Radio transmitters and receivers
Noise performance analysis of CW modulation
Pulse modulation Technique

और detailed syllabus आप हमारी website www.learnbywatch.com पर देख सकते हैं।

एक और बात कहना चाहूँगा दोस्तों,मैंने इस course को तैयार करने में अपने best efforts लगाए हैं और किसी भी topic को समझाने के लिए एक student की level पर पहुंचकर समझाने का प्रयास किया है।

with the help of suitable diagrams, examples, equations etc यही इसका best point है

videos तो आपको बहुत से मिल जायेंगे लेकिन वो आपकी level के हिसाब के नहीं होंगे या फिर जो content आप खोज रहे हैं वो आपको उसमें नहीं मिलेगा।

मैंने इस course को topic wise एक systematic way में design किया है।

और मैं confidence के साथ कह सकता हूँ कि आप मेरा ये course attend करने के बाद अपने आप को एक different level पर पाओगे जो दूसरों से कई गुना बेहतर होगी।

आप मेरे को किसी दूसरों course के लिए भी search करोगे कि काश सर ने कोई और course भी design किया हो this is my promise to you.

SHARE
Previous articleIntroduction to Communication
Next articleWorking of Water Level Indicator Circuit

I can live without food but I can’t live without teaching. I passionate about my profession.
Raj Kumar Thenua, M.Tech in Digital Communication, GATE 2015 & NET 2014 Qualified, currently working as an Assistant Professor at Anand Engineering College, Agra. He has an experience of approx 10 years in academics. The areas of interest are Communication, Signal Processing, and Adaptive filters. He has received a “Shrestha Shikshak Puruskar” by Sharda Group of Institutions (SGI) in the year 2009-10 for outstanding academic performance He has the knowledge of various Engineering simulation software’s mainly MATLAB, Simulink, IE3D, Scilab, Code composer Studio. He is the active member of IETE, ISTE, IAENG, IACSIT, UACEE.

Leave a Reply